देश

UP के इन शहरों में दौड़ेगी बुलेट ट्रेन, NHSRCL ने रेलवे को सौंपी प्रॉजेक्ट रिपोर्ट

[ad_1]

नई दिल्लीः नेशनल हाई स्पीड रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (National High Speed Rail Corporation Limited) ने भारतीय रेल मंत्रालय को दिल्ली-वाराणसी बुलेट ट्रेन परियोजना की डीपीआर (डिटेल्ड प्रॉजेक्ट रिपोर्ट ) सौंप दी है. यह रूट 800 किलोमीटर लंबा होगा जिसमें उत्तर प्रदेश के तमाम बड़े शहर कवर होंगे. मालूम हो कि मुंबई-अहमदाबाद (Mumbai Ahmedabad Route) पर हाईस्‍पीड कॉरिडोर पहले से बन रहा है. नई बुलेट ट्रेनों के निर्माण कार्य भी सभी औपचारिकताओं के बाद जल्द शुरू होंगे. 

इन रूट पर जाएगी वाराणसी बुलेट ट्रेन 
वाराणसी बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट डीपीआर के बाद लाइट डिटेक्शन एंड रेंजिंग (LIDAR) सर्वे के जरिए एक फाइनल रिपोर्ट तैयार की जाएगी. यह बुलेट ट्रेन नोएडा के जेवर एयरपोर्ट से होते हुए अयोध्या नगरी को भी जोड़ेगी. DVHSR कॉरिडोर की प्रस्तावित योजना दिल्ली के राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCT) को मथुरा, आगरा, इटावा, लखनऊ, रायबरेली, प्रयागराज, भदोही, वाराणसी और अयोध्या जैसे प्रमुख शहरों से जोड़ेगी. 

ये भी पढ़ें-Petrol Diesel Price: पेट्रोल का भाव रिकॉर्ड स्तर के करीब, जानिए कहां कितने बढ़े दाम

गौरतलब है कि दिल्ली वाराणसी हाई स्पीड रेल कॉरिडोर के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट 29 अक्टूबर 2020 को रेल मंत्रालय को सौंप दी गई थी. बुलेट ट्रेन 300 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से भाग सकती है. जबकि सेमी हाईस्पीड कॉरिडोर पर ट्रेनें 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ती हैं.

ये भी पढ़ें-Bharat Bandh: किसान आंदोलन खिंचा तो आपकी जेब पर पड़ सकता है असर, जानें कैसे

जानिए  क्या है DPR
7 रूटों में दिल्ली-नोएडा-आगरा-लखनऊ-वाराणसी (Delhi to Varanasi via Noida) (865 किलोमीटर की दूरी) और दिल्ली-जयपुर-उदयपुर-अहमदाबाद शामिल हैं. दूसरे कॉरिडोर में मुंबई-नासिक-नागपुर, मुंबई-पुणे-हैदराबाद, चेन्नै-बेंगलुरु-मैसूर और दिल्ली-चंडीगढ़-लुधियाना-जालंधर-अमृतसर शामिल होंगे. रेलवे ने इन 7 कॉरिडोर की पहचान की है और उनकी DPR तैयार करने में लगा है. DPR में इन रूटों पर बुलेट ट्रेन चलाने की व्यवहार्यता का अध्ययन किया जाएगा, जिनमें जमीन की मांग और यात्रियों की संख्‍या जैसे मुद्दे शामिल किए जाएंगे. इस अध्ययन के बाद रेलवे फैसला करेगा कि ये रूट हाईस्पीड होंगे या सेमी हाईस्पीड. पिछले दिनों ही NHAI द्वारा जमीन अधिग्रहण के लिए 4 सदस्यीय कमेटी का गठन हुआ था जो इस प्रक्रिया को आगे ले जाएगी.



[ad_2]

Source link

Related posts

कोविड केयर सेंटर में रेप की कोशिश के मामले पर महाराष्‍ट्र विधान सभा में जमकर हंगामा, BJP ने उठाए ये सवाल

News Malwa

Supreme Court पहुंचा पेगासस जासूसी मामला, SIT जांच और सॉफ्टवेयर खरीद पर रोक लगाने की मांग

News Malwa

बुरहानपुर: 110 की रफ्तार से गुजरी पुष्पक एक्सप्रेस ट्रेन, भर-भराकर गिर पड़ा पूरा रेलवे स्टेशन

News Malwa