दुनिया

Sweden के इस शहर में रात होते ही Purple हो जाता है आसमान, यह है वजह

[ad_1]

स्टॉकहोम: अंधेरा छाने के बाद जब सबकुछ काला-काला नजर आता है, स्वीडन (Sweden) का आसमान अचानक से बैंगनी हो गया. लोग काफी देर तक समझ नहीं पाए कि आखिर हुआ क्या है. हालांकि, अब लोगों को इसके पीछे की वजह पता चल गई है. 

स्वीडन (Sweden) के दक्षिणी तट पर ट्रेलीबोर्ग में रात होते ही आसमान काले से बैंगनी (Purple) हो गया. शुरुआत में लोग इस घटना को लेकर काफी डर गए. फिर बाद में जब उन्हें इसकी वजह पता चली तो उन्होंने राहत की सांस ली. दरअसल, पास के एक टमाटर फार्म (Tomato Farm) में एनर्जी एफिशिएंट लाइटिंग सिस्टम लगाया गया है, जहां से बैंगनी रंग की रोशनी निकलती है और आसमान का रंग भी बदल जाता है.

Vastu Tips: घर में भूल से भी न लगाएं ये 5 पेड़-पौधे, मुसीबतों का टूट पड़ता है पहाड़

LED लाइट बनीं परेशानी

स्थानीय मीडिया के मुताबिक, ट्रेलीबोर्ग से 10 मिनट की दूरी पर गिस्लोव स्थित टमाटर फार्म में एनर्जी-सेविंग LED लाइट सिस्टम लगाया है, जिसका रंग बैंगनी है. कहा जाता है कि पेड़ों पर गिरती रोशनी उनकी सेहत के लिए अच्छी होती है. इसी उद्देश्य से ये तेज रोशनी वालीं LED लाइट लगाई गई हैं. हालांकि, फार्म मालिक को नहीं पता था कि उसकी यह कोशिश लोगों की परेशानी का सबब बन जाएगी.

Complaints के बाद उठाया कदम
लाइट की रोशनी इतनी तेज है कि अंधेरा होते ही आसमान बैंगनी हो जाता है. लोगों ने इस संबंध में शिकायत भी की है, जिसके मद्देनजर 5 से 11 बजे के बीच लाइट बंद करना शुरू किया गया है. ट्रेलीबोर्ग के पर्यावरण प्रबंधक माइकल नोरेन का कहना है कि फिलहाल कुछ घंटों के लिए लाइट बंद की जा रही है, लेकिन जल्द ही कोई दूसरी ऐसी योजना बनाई जाएगी कि लाइट भी जलती रहीं और किसी को परेशानी भी न हो. वहीं, टमाटर के फार्म के मालिक अल्फ्रेड पेडरसन ऐंड सन का कहना है कि बिजली बचाने के लिए ऐसा किया जा रहा था. उनका इरादा किसी को परेशान करने का नहीं है.

VIDEO



[ad_2]

Source link

Related posts

4 साल बाद मृत पत्नी से हुई पति की ‘मुलाकात’, तस्वीरें आपको भी कर देंगे भावुक

News Malwa

US: Coronavirus के नए स्ट्रेन P1 ने फैलाई सनसनी, Brazil से लौटा था संक्रमित

News Malwa

France: Deep Time Experiment के लिए 40 दिन तक Lombrives Cave में रहेंगे 15 लोग, स्टडी में सामने आएंगी ये बातें

News Malwa