दुनिया

Paris में पुलिस और प्रदर्शनकारियों में हिंसक भिड़ंत, दुकानों की खिड़कियां तोड़ी, कारों में लगाई आग

[ad_1]

पेरिस: फ्रांस (France) की राजधानी पेरिस (Paris) में राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन (Emmanuel Macron) की नई सुरक्षा नीति की योजना को लेकर शनिवार को हिंसक प्रदर्शन हुआ. इस दौरान कुछ नकाबपोश प्रदर्शनकारियों ने दुकान की खिड़कियां तोड़ दी, कारों को आग लगा दी और पुलिस के बैरिकेड जला दिए. पुलिस और प्रदर्शनकारियों में हिंसक भिड़ंत भी हुई.

प्रदर्शन से रोकने पर उग्र हुई भीड़

प्रदर्शनकारी पुलिस की बर्बरता और राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन (Emmanuel Macron) की सुरक्षा नीति की योजना की निंदा कर रहे थे, जिसमें नागरिक स्वतंत्रता को प्रतिबंधित किए जाने की बात है. स्थानीय मीडिया के मुताबिक पहले तो प्रदर्शनकारियों ने शांति मार्च ही निकाला था, लेकिन पुलिस के रोके जाने पर प्रदर्शनकारी उग्र हो गए और पुलिस से ही हाथापाई करने लगे.

ये भी पढ़ें- इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ फ्रांस की कार्रवाई से बौखलाया तुर्की, Emmanuel Macron को बताया मुसीबत

लाइव टीवी

हथियार के साथ थे कुछ लोग: पुलिस

पुलिस का कहना है कि ज्यादातर प्रदर्शनकारियों के चेहरे ढके हुए थे और वो कई सारे हथियारों को साथ लेकर प्रदर्शन में शामिल हुए थे. पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए आंसू गैस के गोले फेंके, जिसके बाद वे गुस्सा हो गए और सुपर मार्केट में तोड़फोड़ के अलावा कई कारों में आग लगा दी.

नए सुरक्षा कानूनों का हो रहा है विरोध

दरअसल, हाल ही में फ्रांस की सरकार ने संसद में एक सुरक्षा बिल पास किया था, जिसके तहत मीडिया में पुलिस अधिकारियों की छवियों को प्रसारित करने के अधिकारों को सीमित कर दिया गया था. इस कानून के पास होने के बाद से ही पेरिस की गलियों में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए थे.

नए कानूनों में सजा का प्रावधान

नए कानूनों में पुलिस अधिकारियों और अन्य सुरक्षाकर्मियों की छवियों को नुकसान पहुंचाने और उनके प्रसार पर सजा का प्रावधान है. इसके तहत एक साल की सजा और 45 हजार यूरो यानी 40.25 लाख रुपये के जुर्माने का प्रावधान है. इस कानून को लेकर पत्रकारों में भी असहमति देखी गई है.



[ad_2]

Source link

Related posts

Twitter अमेरिकी राष्ट्रपति के ऑफिशियल अकाउंट ‘POTUS’ को करेगा रीसेट, हट जाएंगे सारे Followers

News Malwa

रूस: नवेलनी को 3.5 साल की सजा, कहा-मुझे जेल भेजकर लाखों लोगों को डराना चाहती है पुतिन सरकार

News Malwa

EU से अलग हुए Britain के लिए भारत होगा अहम साझेदार, रिपोर्ट में रिश्ते मजबूत करने की सिफारिश

News Malwa