देश

Maharashtra: अस्पताल में बच्चों की मौत पर PM मोदी ने दुख जताया, कहा, ‘हमने 10 बेशकीमती जिंदगियों को खो दिया है’

[ad_1]

भंडारा: महाराष्ट्र (Maharashtra) के भंडारा जिले में एक अस्पताल में लगी आग में 10 बच्चों की मौत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने दुख जताया है. PM मोदी ने ट्वीट करके अपनी संवेदना व्यक्त की है. PM ने लिखा है कि महाराष्ट्र के भंडारा की दिल दहलाने वाली घटना में हमने 10 बेशकीमती जिंदगियों को खो दिया है. मैं पीड़ित परिवारों के साथ सहानभूति रखता हूं और इस दुख की घड़ी में उनके साथ हूं. पीएम मोदी ने हादसे में घायल सभी लोगों के जल्द से जल्द ठीक होने की कामना है.

गृहमंत्री और राहुल गांधी ने भी किए ट्वीट  

PM नरेंद्र  मोदी (Narendra Modi)  के साथ ही गृहमंत्री अमित शाह (Amit shah) ने भी दुर्घटना पर दुख जाहिर किया है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है, ‘महाराष्ट्र के भंडारा जिले की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है. मैं अपने दुख और दर्द को शब्दों में बयां नहीं कर सकता. मैं इस मुश्किल घड़ी में शोक संतप्त परिवारों के साथ हूं. भगवान उन्हें इस अपूरणीय क्षति को सहन करने की शक्ति दे’.

वहीं, कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने ट्वीट किया है, ‘अस्पताल में आग लगने की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है. उन परिवारों के प्रति मैं संवेदना व्यक्त करता हूं, जिनके बच्चे इस हादसे का शिकार बने. मैं महाराष्ट्र सरकार से अपील करता हूं कि घायलों और मृतकों के परिवारों को हर संभव सहायता प्रदान की जाए’.

ये भी पढ़ें -BJP का मिशन बंगाल! समझें, क्या है ‘एक मुट्ठी चावल’ कार्यक्रम, जिसका आज उद्घाटन करेंगे राष्ट्रीय अध्यक्ष JP Nadda

CM ने दिए तत्काल जांच के आदेश दिए

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने भंडारा जिला अस्पताल की चाइल्ड केयर यूनिट में आग की घटना पर दुख व्यक्त किया है. सरकार द्वारा जारी प्रेस नोट में कहा गया है कि हादसे के बारे में पता चलते ही CM ने स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे से बात की और पूरी घटना की तत्काल जांच का निर्देश दिया. मुख्यमंत्री ने जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से भी बात की है और उन्हें भी जांच के लिए निर्देशित किया गया है. 

हादसे के लिए Hospital दोषी 

वहीं, विधायक नरेंद्र भोंडेकर ने कहा कि अस्पताल में पेशंट ज्यादा हैं और स्टाफ कम. यहां कमांडिंग नहीं है, अस्पताल के कर्मचारी ही इस हादसे के लिए जिम्मेदार हैं. दोषियों को तत्काल निलंबित किया जाना चाहिए, ताकि भविष्य में ऐसी घटना न हो. बता दें कि भंडारा जिले के अस्पताल के सिक न्यूबॉर्न केयर यूनिट (SNCU) में शुक्रवार और शनिवार की मध्यरात्रि करीब 2:00 बजे आग लग गई थी. जिसमें कम से कम दस बच्चों की मौत हो गई. जबकि सात बच्चों को किसी तरह बचा लिया गया.  

 

 



[ad_2]

Source link

Related posts

Coronavirus Update Today: एक दिन में आए रिकॉर्ड 68020 नए मामले, 291 मरीजों की मौत

News Malwa

DNA ANALYSIS: ममता बनर्जी पर क्‍या वााकई हमला हुआ? वो बातें जो पैदा करती हैं संदेह

News Malwa

जम्मू-कश्मीर के नेताओं से बोले PM मोदी, ‘दिल की दूरी’ और ‘दिल्ली की दूरी’ को खत्म करना है

News Malwa