दुनिया

Iran ने लिया परमाणु वैज्ञानिक की मौत का बदला? Mossad कमांडर की हत्या का वीडियो जारी

[ad_1]

तेहरान: क्या ईरान (Iran) ने अपने परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फखरीजादेह (Mohsen Fakhrizadeh) की मौत का बदला ले लिया है? यह सवाल खड़ा हुआ है सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो से, जिसमें इजरायल की खुफिया एजेंसी मोसाद के कमांडर की हत्या की बात कही गई है. ईरान ने मोसाद पर फखरीजादेह की हत्या का आरोप लगाया था और बदला लेने की धमकी भी दी थी. 

खुफिया दस्ते ने दिया अंजाम
ईरान (Iran) की मीडिया ने यह जानकारी देते हुए बताया कि इजरायल (Israel) की राजधानी तेल अवीव में 45 वर्षीय मोसाद (Mossad) कमांडर फहमी हिनावी की हत्या कर दी गई. हत्या किसने की इस बारे में अभी कुछ पता नहीं चल पाया है. सोशल मीडिया पर लोग इसे ईरान का बदला करार दे रहे हैं. कई का दावा है कि ईरान के खुफिया दस्‍ते ने इस वारदात को अंजाम दिया है. 

सोशल मीडिया पर घटना का वीडियो वायरल हो रहा है, जिसे हिनावी का बताया जा रहा है. लेकिन वीडियो के फर्जी होने के दावे भी किये जा रहे हैं. साउथफ्रंट नामक वेबसाइट पर कहा गया है कि मोसाद कमांडर की हत्या की खबर पूरी तरह झूठी है और वो सकुशल हैं. वेबसाइट की रिपोर्ट में कहा गया है कि फहमी हिनावी (Fahmi Hinawi) की हत्या की झूठी खबर ईरानी समाचार एजेंसी Tasnim के एक पत्रकार ने फैलाई, जिसके बाद लेबनानी मीडिया ने उसे सनसनी बना दिया.

ये भी पढ़ें-China को जवाब देने की तैयारी, पहली बार US-France के साथ युद्धाभ्यास करेगा Japan

कमांडर नहीं श्रमिक था
ईरानी मीडिया का दावा है कि इजरायली मोसाद कमांडर को गुरुवार को उस समय गोली मार दी गई जब वो अपनी कार में एक ट्रैफिक लाइट पर रुके हुए थे. हमलावरों ने 15 गोलियां दागीं, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई. जबकि दूसरे पक्ष का कहना है कि मारा गया व्यक्ति एक सामान्य श्रमिक था, जिसे फहमी हिनावी बनाकर पेश किया गया. इस घटना को लेकर इजरायल की ओर से कोई आधिकारिक टिप्पणी नहीं की गई है. 

परमाणु कार्यक्रम के प्रमुख थे Fakhrizadeh

ईरान का आरोप है कि मोहसिन फखरीजादेह (Mohsen Fakhrizadeh)की हत्या इजरायल ने करवाई है. फखरीजादेह की हत्या 27 नवंबर को तेहरान में रिमोट कंट्रोल वाली मशीन गन से हुई थी, जो किसी दूसरी कार से ऑपरेट हो रही थी. उस कार को भी धमाका करके उड़ा दिया गया था. मोहसिन फखरीजादेह  ईरान के परमाणु कार्यक्रम के प्रमुख थे. बता दें कि 2010 से 2012 के बीच ईरान के कुछ और न्यूक्लियर साइंटिस्ट्स मारे गए थे, ये सभी मोहसिन के सहयोगी थे.

 



[ad_2]

Source link

Related posts

Russian Couples Kiss in Train: रूस में लोगों ने किस करके Covid-19 प्रतिबंधों का किया विरोध

News Malwa

Corona के बढ़ते मामलों से निपटने के लिए China देगा India का साथ, Dragon ने कहा, ‘हम हर संभव मदद को तैयार’

News Malwa

Donald Trump की नजर में Corona Infected थे उनके रास्ते का कांटा, सभी को भेजना चाहते थे US से बाहर

News Malwa