मध्य प्रदेश

Hyderabad में BJP के जलवे का असर Rajasthan पर, कॉन्फिडेंस में नेता बोले कि…

[ad_1]

जयपुर: हैदराबाद नगर निगम (Hyderabad Municipal Corporation) के चुनाव में बीजेपी (BJP) का उदय हो गया है. पार्टी यहां चार से 49 सीट पर पहुंच गई है और इस जीत से राजस्थान बीजेपी (Rajasthan BJP) भी उत्साहित दिख रही है. 

यह भी पढ़ें- जिला परिषद और Panchayat Samiti सदस्यों के अंतिम चरण के चुनाव आज, इस दिन होगी मतगणना

 

पार्टी का दावा है कि राजस्थान में बीजेपी (BJP) पहले से मजबूत है. लिहाजा यहां पंचायतीराज और शहरी निकायों के चुनाव में हैदराबाद (Hyderabad) से भी ज्यादा प्रभावी जीत दर्ज कराई जाएगी. बीजेपी (BJP) नेताओं का कहना है कि स्थानीय निकाय चुनाव (Local body elections) का जनादेश राज्य सरकार (State Government) के दो साल के कामकाज पर जनता की राय के रूप में देखा जाना चाहिए. 

बीजेपी ने किया जीत का दावा
प्रदेश में स्थानीय निकायों के चुनाव चल रहे हैं. इसमें 21 ज़िलों के पंचायतीराज संस्थाओं के साथ 12 शहरी निकायों के चुनाव भी शामिल हैं. यूं तो चुनाव मैदान में उतरने वाली सभी पार्टियां अपनी जीत चाहती हैं और इसके लिए भरसक कोशिश भी करती हैं लेकिन इस बार के चुनाव में कई जगह मुकाबला त्रिकोणीय बनता दिख रहा है. कांग्रेस (Congress) और बीजेपी (BJP) के साथ ही राष्ट्रीय लोकतान्त्रिक पार्टी (Rashtriya Loktantrik Party) भी इस चुनाव में अपनी किस्मत आजमा रही है लेकिन बीजेपी (BJP) का दावा है कि इस बार के चुनाव में पार्टी ने राज्य सरकार के दो साल के कामकाज को मुद्दा बनाया है और इसी आधार पर बीजेपी (BJP) जनता के बीच गई है. बीजेपी (BJP) के प्रदेश उपाध्यक्ष मुकेश दाधीच (Mukesh dadhich) का कहना है कि हैदराबाद की जीत से भी बीजेपी (BJP) का कार्यकर्ता उत्साहित हैं और इसका असर राजस्थान के चुनावों में भी दिखेगा. 

यह भी पढ़ें- सीकर: पंचायत चुनाव में दो दिग्गजों की दांव पर प्रतिष्ठा, शनिवार को जनता करेगी फैसला

मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत भी हैं उत्साहित
उधर हैदराबाद के चुनावी नतीजों में बीजेपी (BJP) के प्रदर्शन से जोधपुर सांसद और केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत (Gajendra Singh Shekhawat) भी उत्साहित हैं. शेखावत कहते हैं कि पिछले सात साल में केन्द्र की बीजेपी (BJP) सरकार ने एक बात साबित कर दी है कि अब देश में केवल विकास की राजनीति चलेगी. शेखावत ने कहा कि तुष्टिकरण के नाम पर विघटन की राजनीति करने वालों को लेकर अब लोगों की सोच बदल रही है. शेखावत ने कहा कि बिहार और हैदराबाद में बीजेपी (BJP) को मिला लोगों का रेस्पॉन्स भी यही संकेत देता है. परिवारवादी पार्टियां केवल मोदी को हटाने के एजेंडे पर काम कर रहे हैं लेकिन मोदी विकास के एजेंडे को राजनीति की धुरी बना चुके हैं और यही कारण है कि दूसरे चुनावों में भी बीजेपी (BJP) अच्छा प्रदर्शन कर रही है. 

राजस्थान (Rajasthan) के शहरी और ग्रामीण निकाय चुनाव में पार्टी के अच्छे प्रदर्शन के दावे के साथ ही बीजेपी (BJP) इस बार के चुनाव नतीजों को राज्य सरकार के कामकाज पर जनता की राय के रूप में भी देख रही है. पार्टी का कहना है कि इन चुनाव के नतीजों से पता चल जाएगा कि प्रदेश में लॉ एण्ड ऑर्डर और दूसरे मामलों में राज्य सरकार के रवैये पर राजस्थान की जनता क्या सोचती है?

राज्य सरकार के कामकाज को बनाया मुद्दा 
बीजेपी (BJP) इस बार के स्थानीय निकाय चुनाव (Local body elections) में राज्य सरकार के कामकाज को मुद्दा बना रही है. पार्टी यह भी कह रही है की चुनाव के नतीजों को सरकार के काम पर जनता की राय के रूप में देखा जाना चाहिए लेकिन क्या पार्टी इस बात को मानने के लिए भी तैयार होगी कि इन नतीजों को बीजेपी (BJP) नेताओं की परफॉर्मेन्स या बीजेपी (BJP) की एकजुटता की परख के रूप में भी देखा जाए?

 



[ad_2]

Source link

Related posts

झारखंड: PLGA की 20वीं वर्षगांठ पर पुलिस का हाई अलर्ट, हर मूवमेंट पर रखी जा रही नजर

News Malwa

रेमडेसिविर खरीदें तो ध्यान से, इंदौर का डॉक्टर इस प्रदेश में बना रहा था नकली इंजेक्शन

News Malwa

जब लोगों ने एक घर पर मारी रेड तो पुल‍िसवाला लगा भागने, फ‍िर उसे पकड़कर किया पुल‍िस के हवाले, जानें क्‍या है पूरा मामला

News Malwa