देश

HD Kumaraswamy ने Siddaramaiah पर बोला हमला, कहा- ‘Congress से हाथ मिलाकर जनता का भरोसा खो दिया’

[ad_1]

बेंगलुरु: जनता दल (सेकुलर) के नेता एच. डी. कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) ने कांग्रेस और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया (Siddaramaiah) पर जमकर हमला बोला. एच. डी. कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) ने कहा कि कर्नाटक में सरकार में बनाने के लिए कांग्रेस के साथ गठबंधन करना उनकी सबसे बड़ी भूल थी. हमारी पार्टी जनता दल (सेकुलर) द्वारा कांग्रेस का साथ देने के कारण हमने जनता का भरोसा खो दिया.

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एच. डी. कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) ने शनिवार को कहा कि वो कांग्रेस के ‘जाल’ में फंस गए थे और सिद्धारमैया (Siddaramaiah) की साजिश को समझ नहीं पाए थे. उन्हें सिद्धारमैया (Siddaramaiah) ने बीजेपी (BJP) से बड़ा धोखा दिया.

एच. डी. कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) के आरोप का कांग्रेस (Congress) नेता और कर्नाटक (Karnataka) के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया (Siddaramaiah) ने जवाब देते हुए कहा, ‘एच. डी. कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) झूठ बोलने में माहिर आदमी हैं. आंसू बहाना उनके परिवार की पुरानी आदत है.’

ये भी पढ़ें- Coronavirus: इस देश में शुरू हुआ Vaccination, इन लोगों को मिली पहली प्राथमिकता

पूर्व मुख्यमंत्री एच. डी. कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘मैंने मुख्यमंत्री के तौर पर साल 2006-07 में राज्य की जनता का जो भरोसा हासिल किया था और जिसे 12 साल तक बरकरार रखा था, वो कांग्रेस के साथ गठबंधन करके खो दिया.’

एच. डी. कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) ने आगे कहा कि हमें कांग्रेस से कभी हाथ नहीं मिलना चाहिए था क्योंकि कांग्रेस ने जनता दल (सेकुलर) को बीजेपी की ‘B’ टीम बताकर चुनाव में प्रचार किया था. लेकिन उनकी पार्टी के अध्यक्ष एच. डी. देवगौड़ा की सलाह पर वो गठबंधन सरकार बनाने के लिए राजी हुए थे.

उन्होंने कहा, ‘मेरी पार्टी को अपनी मजबूती खोकर उसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है. मैं देवगौड़ा की भावनाओं के चलते जाल में फंस गया था, जिसका खामियाजा स्वतंत्र रूप से 28-40 सीटें जीतने वाली मेरी पार्टी को बीते तीन साल में हुए चुनाव के दौरान भुगतना पड़ा है.’

ये भी पढ़ें- दिल्ली में आज भी ट्रैफिक वाली ‘टेंशन’! किसानों का प्रदर्शन 11वें दिन भी जारी

हालांकि एच. डी. कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) ने स्पष्ट किया कि वो एच. डी. देवगौड़ा को इसका दोषी नहीं मानते हैं क्योंकि वो धर्मनिरपेक्ष पहचान के प्रति अपने पिता की आजीवन प्रतिबद्धता को समझते हैं और उसका सम्मान करते हैं.

गौरतलब है कि 2018 के कर्नाटक विधान सभा चुनाव में जब किसी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला था तो एक-दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ने वाली कांग्रेस और जनता दल (सेकुलर) ने मिलकर सरकार बनाई थी और एच. डी. कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) को मुख्यमंत्री बनाया गया था.

दोनों पार्टियों ने पिछले साल 2019 में साथ मिलकर लोकसभा चुनाव भी लड़ा, जिसके बाद गठबंधन में आंतरिक मतभेद पैदा हो गए और कुछ विधायकों की बगावत के चलते गठबंधन सरकार गिर गई.

एच. डी. कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) के आरोपों पर पटलवार करते हुए सिद्धारमैया (Siddaramaiah) ने आरोप लगाया, ‘एच. डी. कुमारस्वामी झूठ बोलने में माहिर हैं, वो राजनीति की खातिर हालात के मुताबिक झूठ बोल सकते हैं. जनता दल (सेकुलर) को 37 सीटें मिलने के बावजूद उन्हें मुख्यमंत्री बनाना क्या हमारी गलती थी?’

LIVE TV



[ad_2]

Source link

Related posts

10 करोड़ भारतीयों के Credit और Debit कार्ड का डेटा लीक, जानिए कौन जिम्मेदार

News Malwa

Farmers Protest: किसानों का आंदोलन 9वें दिन भी जारी, जाम से परेशान दिल्ली

News Malwa

India के 3 दिवसीय दौरे पर पहुंचे अमेरिकी रक्षा मंत्री Lloyd J. Austin, पीएम Narendra Modi से की मुलाकात

News Malwa