धर्म-कर्म

Baikunth Chaturdashi 2020 : भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए स्वंय विष्णु ने पढ़ा था ये मंत्र, आप भी ज़रुर करें इसका उच्चारण

[ad_1]

<p style=”text-align: justify;”><span style=”font-weight: 400;”>बैकुंठ चतुर्दशी यानि वो कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की वो चतुर्दशी जो बैकुंठ धाम दिलाती है. कहते हैं इस दिन अगर किसी मनुष्य की मौत हो तो उसे सीधे बैकुंठ धाम मिल जाता है. यानि स्वर्ग के द्वार खुद ब खुद खुल जाते हैं. </span></p>
<p

[ad_2]

Source link

Related posts

एस्ट्रोवाणी | नवरात्री मनाने के पीछे क्या है विज्ञान , क्या है उसके पीछे की Astrology ?

News Malwa

Masik Shivratri 2021: आज है साल की पहली मासिक शिवरात्रि, जानें क्या है इस बार विशेष संयोग और शुभ मुहूर्त

News Malwa

कोरोना के साये में जगन्नाथ रथ यात्रा आज से शुरू, जानें क्या है इसकी पौराणिक महिमा?

News Malwa