मध्य प्रदेश

Ajmer जिला प्रमुख के नाम की घोषणा बनी BJP के लिए सिरदर्द, जानिए किसकी चमकेगी किस्मत

[ad_1]

अजमेर: जिला परिषद (Zila Parishad) में बीजेपी (BJP) ने भले ही 32 में से 21 सीट जीत कर लगातार पांचवी बार काबिज होने का रास्ता साफ़ कर लिए हो लेकिन जिला प्रमुख पद को लेकर चल रही अंतर्कलह बीजेपी (BJP) के लिए सिरदर्द बन चुकी है. 

यह भी पढ़ें- Rajasthan Panchaytiraj Election में शानदार जीत के बाद BJP में जश्न का माहौल, कहा…

एक तरफ बीजेपी (BJP) संगठन इस पद पर ताजपोशी के लिए नवनिर्वाचित जिला परिषद सदस्यों की रायशुमारी को मान कर उम्मीदवार के नाम की घोषणा करना चाहता है तो दूसरी तरफ पूर्व विधायक और जिला प्रमुख रह चुकी सुशील कंवर पलाड़ा (Sushil Kanwar Palara) और उनके पति बीजेपी (BJP) नेता भंवर सिंह पलाड़ा इस पद के लिए अपने निजी स्तर पर बाड़ेबंदी कर बीजेपी (BJP) संगठन पर दबाव बनाये हुए है. 

यह भी पढ़ें- Rajasthan Panchaytiraj Election में कैसे चला BJP का जादू, सामने आई ये बड़ी वजहें

मिल रही जानकारी के मुताबिक़, बीजेपी (BJP) संगठन द्वारा की गई बाड़ेबंदी में बीजेपी (BJP) उम्मीदवार के रूप में जीत दर्ज करवाने वाले 11 जिला परिषद सदस्य है. यह बाड़ेबंदी सवाई माधोपुर (Sawai Madhopur) के निजी रिसॉर्ट में की गयी है. 

इसके विपरीत सुशील कंवर पलाड़ा के लिए उनके पति भंवर सिंह पलाड़ा (Bhanwar Kanwar Palara) द्वारा अपने पुष्कर स्थित होटल भंवर सिंह पैलेस में की गयी बाड़ेबंदी में बीजेपी (BJP) के टिकट पर निर्वाचित 10 जिला परिषद सदस्यों को रखा गया है. बीजेपी (BJP) संगठन द्वारा जिला प्रमुख पद के लिए जो पैनल तैयार किया गया है, उसमें पहले स्थान पर पुखराज पहाड़िया का नाम है. पुखराज पहाड़िया पूर्व में जिला प्रमुख रह चुके है साथ ही बीजेपी (BJP) राष्ट्रिय उपाध्यक्ष ओम माथुर के करीबी होने का लाभ भी उन्हें मिल रहा है. पहाड़िया के नाम पर संघ की सहमति की बात भी की जा रही है. 

दूसरी सुशील कंवर पलाड़ा के समर्थक उनके एक बार विधायक और एक बार जिला प्रमुख रहने को पहाड़िया से ज्यादा योग्य होने की बात कही जा रही है. बीजेपी (BJP) द्वारा तैयार पैनल में इन दो नाम के साथ ही महेंद्र सिंह मझेवला और दिलीप पचार का नाम भी शामिल किया गया है. दिलीप पचार जहां पीसांगन पंचायत समिति के प्रधान रह चुके हैं तो महेंद्र सिंह मझेवला पूर्व में अजमेर सरपंच संघ के जिलाध्यक्ष भी रहे हैं.

प्रदेश नेतृत्व के पास पहुंचा मामला 
पूर्ण बहुमत के बावजूद अजमेर जिला प्रमुख पद की यह लड़ाई अब प्रदेश नेतृत्व के पास पहुंच चुकी है. इस मामले में अजमेर बीजेपी (BJP) देहात के अध्यक्ष देवी शंकर भूतड़ा आज सुबह ही जयपुर पहुंच गए. जयपुर में भूतड़ा की मुलाकात संगठन महामंत्री चन्द्रशेखर, प्रतिपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया, उपनेता राजेन्द्र सिंह राठौड़ आदि से हुई है. भूतड़ा ने प्रदेश नेताओं को सभी परिस्थितियों से अवगत करा दिया है. भूतड़ा ने स्पष्ट कहा कि प्रदेश नेतृत्व जो फैसला करेगा, उस पर जिला संगठन की सहमति है. बताया जा रहा है कि पलाड़ा समर्थको ने भी पुरजोर तरीके से प्रदेश नेतृत्व के सामने सुशील कंवर पलाड़ा के नाम की पैरवी की है. अब अंतिम फैसला प्रदेश नेतृत्व को ही लेना है. 

क्षेत्रीय विधायकों की राय से होगा पंचायत समिति प्रधानों का फैसला
अजमेर जिले की 11 पंचायत समितियों में से 9 में बीजेपी (BJP) को बहुमत मिला है. बीजेपी (BJP) के देहात संगठन ने सभी पंचायत समितियों के प्रधान पद के दावेदारों के पैनल प्रदेश नेतृत्व को सौंप दिए हैं. हालांकि उम्मीदवारों के चयन में बीजेपी (BJP) के क्षेत्रीय विधायकों की राय को प्राथमिकता दी जाएगी. अजमेर ग्रामीण पंचायत समिति (Ajmer Gramin Panchayat Samiti) का प्रधान बनने के लिए कांग्रेस की पूर्व मंत्री नसीम अख्तर ने पूरा जोर लगाया था. इसके लिए स्वयं ने भी सदस्य का चुनाव लड़ा. 

अख्तर और उनकी पुत्र वधु दोनों सदस्य का चुनाव तो जीत गई, लेकिन 35 सदस्यों वाली पंचायत समिति में कांग्रेस को बहुमत नहीं मिला. हालांकि प्रधान बनने के लिए 18 मतों की जरुरत है, जबकि बीजेपी (BJP) के 17 सदस्य हैं. लेकिन कांग्रेस के पास 13 ही सदस्य हैं. श्रीमती अख्तर की नजर सभी पांच निर्दलीय सदस्यों पर लगी हुई है. अख्तर को बीजेपी (BJP) में क्रॉस वोटिंग की भी उम्मीद है लेकिन पुष्कर के विधायक सुरेश सिंह रावत ने बीजेपी (BJP) का प्रधान बनवाने के लिए पूरी ताकत लगा रखी है. बीजेपी (BJP) को पांच में से सिर्फ एक निर्दलीय के समर्थन की जरुरत है. 

 



[ad_2]

Source link

Related posts

भोपाल: पुलिस की बैरिकेडिंग ने बढ़ाई मुसीबत, दूध, सब्जी और दवाई खरीदने में लोगों को हो रही परेशानी

News Malwa

गृहमंत्री अमित शाह का ‘भांजा’ बनकर दो MLA से ठगी की कोशिश, दोनों बार असफल

News Malwa

छत्तीसगढ़ी व्यंग्य- चिरई-चुरगुन उपर बर्ड-फ़्लू के आपातकाल

News Malwa