मध्य प्रदेश

रिहायशी इलाके में फिर घुसा 7 फीट लंबा मगरमच्छ, वनकर्मियों ने किसी तरह टाली अनहोनी

[ad_1]

इमरान अजीज/बगहा: बिहार के इकलौते वाल्मीकि टाइगर रिजर्व क्षेत्र के वन प्रमंडल दो से सटे रिहायशी क्षेत्रों में वन्यजीवों के विचरण और भ्रमण का सिलसिला रूकने का नाम नहीं ले रहा है. आए दिन कभी सांप, तेंदुआ, अजगर, मगरमच्छ, घड़ियाल, भालू आदि जानवर रिहायशी क्षेत्रों में पहुंचकर ग्रामीणों को दहशतजदा कर रहे हैं. 

ताज़ा मामला इंडो-नेपाल सीमा से सटे वाल्मिकीनगर रेंज अन्तर्गत हवाईअड्डा कैलाशपुर का है जहां गांव के एक घर में मगरमच्छ घुसने से अफरा तफ़री मच गई. 

दरअसल टाईगर रिजर्व और गंडक नदी तट पर स्थित वाल्मिकीनगर थाना क्षेत्र के हवाईअड्डा कैलाशपुर गांव निवासी राजू कुशवाहा के घर में गंडक नदी से निकलकर वन क्षेत्र होते भटक कर एक सात फीट लंबा मगरमच्छ घर में जा घुसा. मगरमच्छ को देखते हीं घरवाले दहशत से भर गए. तत्काल इसकी सूचना वन विभाग को दी गई. 

टाइगर रिजर्व के वाल्मीकिनगर रेंजर महेश प्रसाद ने तत्काल त्वरित कार्रवाई करते हुए वन कर्मियों की टीम को घटनास्थल की तरफ रवाना कर दिया, जहां घंटों की मशक्कत के बाद वनकर्मियों ने मगरमच्छ का सुरक्षित और सफल रेस्क्यू कर लिया. इसके बाद मगरमच्छ को गंडक नदी में सुरक्षित छोड़ दिया गया. 

रेंजर ने ग्रामीणों से अपील किया है कि वन क्षेत्र से रिहायशी क्षेत्र सटे हुए हैं इस कारण कभी कभार वन्य जीव रास्ता भटक कर रिहाइसी क्षेत्र में पहुंच जाते हैं ग्रामीण सतर्क और सजग रहें किसी भी वन्यजीव को देखते ही इसकी सूचना वन विभाग के क्षेत्र कार्यालय और वन अधिकारियों को दें ताकि वन्य जीवों को बचाया जा सके और किसी अनहोनी पर समय रहते काबू किया जा सके.

बता दें कि वन विभाग द्वारा किसी अनहोनी और जंगली जीव जंतुओं के हमले में ज़ख्मी और मृत के आश्रितों को मुआवजा भी दिए जाने का प्रावधान है लेकिन सवाल वन विभाग की व्यवस्था और कार्यशैली पर ऐसे मामलों में खड़े हो ही जाते हैं जिसका जवाब फ़िलहाल वन विभाग प्रशासन के पास नहीं क्योंकि यहां संसाधनों का अभी भी घोर अभाव है और टाईगर रिजर्व समेत नदी किनारे कहीं भी बैरिकेडिंग और सीमांकन नहीं होना भी एक अहम कारण है.



[ad_2]

Source link

Related posts

Good News: अब कॉलोनाइजरों पर होगी FIR, 7 साल सजा और 10 लाख का जुर्माना, जानिए क्या है नए एक्ट में

News Malwa

MP Weather: 7 दिन पहले पहुंचा मानसून, ऑरेंज-यलो अलर्ट जारी, श्योपुर-शिवपूरी में पारा 42.6 डिग्री

News Malwa

खूब लड़ी मर्दानी वो तो झांसी वाली रानी थी… शहीद ज्योति स्थापना के साथ शुरू हुआ वीरांगना लक्ष्मीबाई बलिदान मेला…

News Malwa