मध्य प्रदेश

राम मंदिर की कार्य योजना का खाका तैयार, कल मिल सकती है राम भक्तों को खुशख़बरी

[ad_1]

अयोध्या: अयोध्या में राम मंदिर निर्माण समिति की दो दिवसीय बैठक सर्किट हाउस में अयोजित की गई. इस बैठक को समिति के चेयरमैन पूर्व आईएएस अधिकारी नृपेंद्र मिश्र ने बुलाई थी. आज इस बैठक का पहला दिन था. सोमवार सुबह से ही राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र और राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के ट्रस्टीयों के बीच अहम बैठक हुई. 

राम मंदिर मॉडल की तर्ज पर बनेगा फैजाबाद रेलवे स्टेशन, नाम होगा ‘अयोध्या कैंट’

बैठक में शामिल हुए ये लोग
यह बैठक अलग-अलग समय पर अलग-अलग जगहों पर की गई. सुबह 10 बजे राम जन्मभूमि परिसर में राम मंदिर निर्माण के स्थलीय निरीक्षण के साथ पहली बैठक वशिष्ठ आश्रम में की गई, जिसमें राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र के साथ राम मंदिर का मॉडल बनाने वाले सोमपुरा परिवार के आशीष सोमपुरा, लार्सन एंड टूब्रो के इंजीनियर और टाटा कंसल्टेंसी के इंजीनियर भी शामिल हुए.

खाली पेट चाय की चुस्की आपको बीमार, बहुत बीमार कर सकती है, जानिए क्यों?

इसके साथ ही राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय, कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरी जी महाराज, ट्रस्टी डॉ अनिल मिश्र भी शामिल हुए. इस बैठक में राम मंदिर निर्माण के कार्य प्रगति को लेकर अहम चर्चा की गई.

दूसरी बैठक दोपहर 2 बजे सर्किट हाउस में हुई, जिसमें मंदिर निर्माण से संबंधित सभी यूनिट के लोग, ट्रस्ट के सदस्य और आईआईटी रुड़की, आईआईटी चेन्नई के विशेषज्ञ वैज्ञानिक भी शामिल हुए. यह बैठक शाम 6 बजे तक चली. इस बैठक में राम मंदिर निर्माण को लेकर आगे की कार्य योजना का खाका तैयार किया गया. 

सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क का बयान, बीजेपी ने ताकत के दम पर पारित कराया कृषि कानून  

फाइनल डिजाइन के साथ शुरू होगा पिलर बनाने का काम
बैठक में शामिल राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के ट्रस्टी डॉ. अनिल मिश्र ने कहा कि जल्द ही राम मंदिर निर्माण के लिए फाइनल डिजाइन के साथ नींव का काम शुरू किया जाएगा. उन्होंने बताया कि निर्माण कार्य सही दिशा में आगे बढ़ रहा है. टाटा कंसल्टेंसी और लार्सन एंड टूब्रो के इंजीनियरों की आईआईटी चेन्नई, आईआईटी रुड़की और आईआईटी कानपुर के एक्सपर्ट्स वैज्ञानिकों के साथ एक बैठक भी हो चुकी है.

आईआईटी चेन्नई की टेस्ट पाइलिंग की रिपोर्ट आई थी, उस पर भी अध्ययन पूरा हो चुका है. अब सिर्फ फाइनल डिजाइन के साथ राम मंदिर निर्माण के लिए पिलर बनाने का काम शुरू किया जाना है. जल्द ही यह काम भी शुरू किया जाएगा. 

Video: धारा 144 का उल्लंघन करने पर हिरासत में अखिलेश यादव

65 एकड़ भूमि को लेकर देशभर से आए सुझावों की हो रही समीक्षा 
ट्रस्टी डॉ. अनिल मिश्र का कहना है कि 65 एकड़ भूमि पर देशभर से महायोजना के लिए जो सुझाव आए थे उसको लेकर ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरी जी महाराज समीक्षा कर रहे हैं. जल्द ही उस भूमि को लेकर किस तरीके की निर्माण महायोजना है वह भी सबके सामने आ जाएगी. आगे उन्होंने बताया कि राम मंदिर से संबंधित जरूरी निर्माण कार्य शुरू हो चुके हैं. जैसे चारदीवारी और मिट्टी को लेकर कार्य अंतिम चरण पर है. अब सिर्फ जमीन को मजबूत करने के कार्य को शुरू करना है.

किसान आंदोलन पर हो रही राजनीति, कांग्रेस का दोहरा चरित्र फिर आया सामने- CM योगी

8 दिसंबर को होगी साल की आखिरी बैठक  
वहीं डॉ अनिल मिश्र ने विश्व हिंदू परिषद के चार लाख गांव के 11 करोड़ परिवार से मिलकर राम मंदिर के लिए सहयोग लेने की कार्य योजना पर कहा कि विहिप का काम या उद्देश्य चंदा इकट्ठा करना नहीं है. वह चाहती है कि राम भक्तों तक राम मंदिर निर्माण के सहयोग का एक मैसेज पहुंचे और उनके सहयोग से राम मंदिर का निर्माण हो. राम मंदिर जन भावनाओं के अनुरूप बने इसलिए हर परिवार को राम मंदिर से जोड़ना विहिप का उद्देश्य है. साल 2020 की राम मंदिर निर्माण से संबंधित बैठक 8 दिसंबर को भी आयोजित की जाएगी. माना जा रहा है कि यह इस साल की अंतिम बैठक होगी.

WATCH LIVE TV

 



[ad_2]

Source link

Related posts

कोविड 19 टीका: मध्य प्रदेश कैसे बना एक दिन में सबसे ज्यादा टीकाकरण करने वाला राज्य? UP और दिल्ली को छोड़ा पीछे

News Malwa

10वीं-12वीं पास युवाओं के लिए भारतीय सेना में शामिल होने का मौका, यहां होने जा रही है भर्ती रैली, जानिए डिटेल

News Malwa

मृत पिता की डिग्री पर फर्जी डॉक्टर 20 साल से कर रहा था इलाज, पढ़िए कैसे खेत में चल रहा था हॉस्पिटल

News Malwa