मध्य प्रदेश

रांची: स्कूल की डेयरी से बाजार में बेचे जा रहे दूध ताकि कर्मचारियों के परिवार का पल सके पेट

[ad_1]

रांची: लॉकडाउन की वजह से स्कूल बंद हैं. स्कूल बंद होने के कारण स्कूल संचालकों के सामने कई तरह की परेशानी बढ़ गई है. स्कूल का खर्च चलाने के साथ साथ शिक्षककर्मी का वेतन देने तक में मुश्किलें हो रही हैं. झारखंड में चलने वाले कई बोर्डिंग स्कूल की तो परेशानी और भी बढ़ गयी है. 

राज्य के कई बोर्डिंग स्कूल होस्टल के छात्रों को दूध देने के लिए गाय पालते हैं, लेकिन लॉकडाउन में कई स्कूलों को गाय बेचना पड़ा तो कुछ बोर्डिंग स्कूल दूध के कारोबार में जुट गए. दूध बेच कर स्कूल और डेयरी का खर्च निकाल रहे हैं. 

रांची के विकास विद्यालय प्रबंधन ने बच्चों को दूध देने के लिए डेयरी खोल रखा है. यहां 50 गायें हैं जो दूध देती हैं. कुल 100 से ज्यादा जानवर हैं, लेकिन लॉकडाउन में बच्चे छात्रावास में नहीं हैं. ऐसे में हर दिन लगभग 400 लीटर दूध प्रबंधन के सामने मुसीबत बना हुआ था.

ऐसे में पूर्ववर्ती छात्रों ने सलाह दिया दूध की बिक्री की जाए. फिर लगभग 150 लीटर दूध घर-घर बेचने का काम शुरू किया गया. ताकि जानवर का खर्च डेयरी में काम करने वालों का वेतन और स्कूल का खर्च पूरा किया जा सके.

विकास डेयरी में काम करने वाले स्टाफ विकास मुंडा बताते हैं कि लॉकडाउन में सभी कर्मी को आधा वेतन मिल रहा है. चारा भी पूरा नहीं हो पा रहा था. स्थिति को देखते हुए हम लोग काम कर रहे हैं. स्कूल की स्थिति भी लॉकडाउन में खराब है. जबकि यहां काम करने वाले ननकू बताते हैं कि दूध बेचना जरूरी था. उसी से होने वाली आमदनी से जानवर के खाने के इंतजाम से लेकर कर्मचारी तक को वेतन मिलता है. दूध नहीं बिकेगा तो परिवार कैसे चलेगा.

तिलेश्वर महतो की मानें तो शुरू में पनीर और मिठाई बनाने का काम हो रहा था, लेकिन बिक्री नहीं हो रही थी. 3-3 महीने तक कर्मचारी का वेतन रूका रहा फिर दूध बेचने का काम शुरू हुआ.

जबकि विकास डेयरी के मैनेजर रत्नेश बताते हैं कि स्कूल बंद होने के कारण दूध का इस्तेमाल कैसे हो इसमें काफी मुश्किल आ रही थी. अब शहर में रोजाना 160 लीटर दूध बिक रहा है. होटल में तो दूध की कीमत मिल ही नहीं रही थी. होटलवाले लॉकडाउन के कारण मनमानी कर रहे थे. लॉकडाउन में दाना-कुट्टी तक का प्रॉब्लम हो रहा था मंहगा मिल रहा था.



[ad_2]

Source link

Related posts

CM योगी आज करेंगे कैलाश मानसरोवर भवन का लोकार्पण, जानिए क्या है खासियत?

News Malwa

वेब सीरीज सत्यनारायण कथा के खिलाफ गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने DGP को दिया निर्देश, निर्माता-निर्देशक पर हो सकती है FIR

News Malwa

कांग्रेस की यूथ बॉडी में BJP की एंट्री पर बवाल, दो पदाधिकारियों का निर्वाचन निरस्त

News Malwa