मध्य प्रदेश

भगोड़े और भ्रष्टाचार के आरोपी पूर्व SP मणिलाल पाटीदार को HC से लगा बड़ा झटका

[ad_1]

मो. गुफरान/प्रयागराज: भ्रष्टाचार के आरोपी महोबा के पूर्व एसपी मणिलाल पाटीदार को हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है. हाईकोर्ट ने उनकी अग्रिम जमानत अर्जी की खारिज कर दी है. आईपीएस मणिलाल पाटीदार पर भ्रष्टाचार के गम्भीर आरोप लगे हैं. जिस पर जस्टिस सुनीत कुमार की एकल पीठ ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी है. 

क्यों नहीं दी गई अग्रिम जमानत
राज्य सरकार की ओर से दलील दी गई कि गई कि निलंबित आईपीएस मणिलाल पाटीदार पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया जा चुका है. उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी है और भगोड़ा भी घोषित किया गया है. इस पर कोर्ट ने कहा ऐसे में वह अग्रिम जमानत का हकदार नहीं हैं.

107 साल बाद कनाडा से वापस आएगी मां अन्नपूर्णा की चोरी हुई मूर्ति, जानिए कैसे पता चला इस चोरी का

क्या है पूरा मामला?
क्रशर कारोबारी ने 7 सितंबर को तत्कालीन एसपी मणिलाल पाटीदार और कबरई के तत्कालीन एसओ देवेंद्र शुक्ला पर जबरन वसूली का आरोप लगाया था. उनसे अपनी जान को खतरा बताते हुए ऑडियो और वीडियो वायरल किए थे. सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ को भी इसी संदर्भ के प्रार्थना-पत्र भेजा था. क्रशर व्यापारी की मौत के बाद तत्कालीन महोबा एसपी मणिलाल पाटीदार, संबंधित इलाके के थानाध्यक्ष और कॉन्स्टेबल के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था. पिछले दिनों मृतक व्यापारी के परिजनों की शिकायत पर एसआईटी से जांच ट्रांसफर कर जोनल एसआईटी को सौंप दी गई थी. 

क्रशर व्यापारी ने पाटीदार पर लगाए थे आरोप 
गौरतलब हो कि महोबा के रहने वाले क्रशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी की 8 सितंबर को गोली मार कर हत्या कर दी गई थी. पांच दिन बाद इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. कारोबारी की मौत के बाद उनके भाई रविकांत ने महोबा के पूर्व एसपी मणिलाल पाटीदार और कबरई थाने के तत्कालीन थानेदार समेत दो अन्य के खिलाफ हत्या और साजिश की FIR दर्ज कराई थी. अपनी मौत से पहले ही एक वीडियो के जरिए उन्होंने पाटीदार पर संगीन आरोप लगाए थे और अपनी हत्या की आशंका जताई थी. 

एक गलत क्लिक और छात्र ने गंवा दी IIT-Bombay की सीट, सुप्रीम कोर्ट पहुंचा मामला

पाटीदार के खिलाफ कई शिकायतें 
बता दें कि मणिलाल पाटीदार व्यापारी इंद्रकांत की मौत के मामले में 15 नवंबर से फरार हैं. पुलिस की कई टीमें उनकी खोज में लगी हुई हैं. अब तक उनकी  गिरफ्तारी नहीं हो पाई है. पाटीदार के खिलाफ भ्रष्टाचार की भी कई शिकायतें हैं. मुख्यमंत्री योगी ने इस मामले पर संज्ञान लेते हुए कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए थे. 

 25 हजार का इनाम घोषित 
पूर्व एसपी मणिलाल के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी है. अब उनपर 25 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया गया है. आरोपित सिपाही अरुण यादव पर भी इनाम रखा गया है. प्रदेश का ये पहला मामला है जिसमें किसी आईपीएस पर 25 हजार का इनाम रखा गया है.

WATCH LIVE TV



[ad_2]

Source link

Related posts

शहरी गवर्नेंस के मामले में छत्तीसगढ़ को मिली बड़ी सफलता, पूरे देश में हासिल किया ये स्थान

News Malwa

Indore News: इंदौर जिले के नाम दर्ज हुआ रिकॉर्ड, एक दिन में 2 लाख से ज्यादा लगे टीके

News Malwa

MP Weather Update: एमपी के कई जिलों में बारिश का अनुमान, मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी

News Malwa