देश

ब्रिटिश संसद से कितना अलग होगा देश का New Parliament House, जानिए क्या होंगी नए भवन की खूबियां

[ad_1]

नई दिल्लीः देश को बहुत जल्द नई संसद मिलने वाली है. अंग्रेजों द्वारा बनवाए गए संसद भवन को 93 साल पूरे हो चुके हैं. आपको बता दें कि इसी संसद भवन के नजदीक एक और नए संसद भवन का निर्माण किया जा रहा है. नए संसद भवन का 10 दिसंबर को भूमि पूजन किया जाएगा. स्पीकर ओम बिरला (Om Birla) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास पर पहुंचकर उन्हें भूमि पूजन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि बनने के लिए आमंत्रित किया. बिरला ने नए संसद भवन को लेकर कई जानकारियां साझा की हैं. जानते हें इस बिल्डिंग की खास बातें. 

देश की 75वीं वर्षगांठ से नए संसद भवन में होगी सत्र की शुरुआत
ओम बिरला ने बताया कि ”यह सौभाग्य व गर्व का अवसर है कि प्रधानमंत्री 10 दिसंबर को दोपहर 1 बजे संसद के नए भवन का भूमि पूजन करेंगे. इसका निर्माण कार्य अक्टूबर 2022 तक पूर्ण करने का लक्ष्य है. देश की आजादी की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर संसद का सत्र नए भवन में शुरू होगा. नए भवन के निर्माण के बाद भी पुराने भवन का उपयोग जारी रहेगा. दोनों भवन एक-दूसरे के पूरक के रूप में कार्य करेंगे. पूरे निर्माण कार्य में मौजूदा भवन की ऐतिहासिक धरोहर के संरक्षण का भी पूरा ध्यान रखा जाएगा.”

ये भी पढ़ें-Farmers Protest: दिलजीत के बाद सोनू सूद बोले- ‘किसान का दर्जा मां-बाप से कम नहीं’

नए संसद भवन में 888 सीटें लोकसभा और 326 राज्यसभा की होंगी
ओम बिरला ने आगे कहा, ”नया संसद भवन सिर्फ ईटों और पत्थरों की इमारत नहीं होगी, यह 130 करोड़ लोगों के सपनों को पूरा करेगी. नए संसद भवन के निर्माण के बाद यह भी प्रयास किया जा रहा है कि मूल संसद भवन की विजिवलटी में कोई अधिक अंतर न आए. संसद परिसर में स्थित सभी प्रतिमाओं को भी गरिमा एवं प्रतिष्ठा के साथ पुनः स्थापित किया जाएगा. नए संसद भवन में लोकसभा सदस्यों के लिए लगभग 888 सीटें और राज्यसभा सदस्यों के लिए 326 से अधिक सीटें होंगी.”

संसद में ये होंगी सुविधाएं
जानकारी के मुतबिक नया संसद भवन (New Parliament House) कुल 64,500 वर्ग मीटर के क्षेत्र में बन रहा है. यह इमारत 4 मंजिला होगी जो 21 महीने में बनकर तैयार होगी. टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड को नए संसद भवन के निर्माण का ठेका दिया गया है. लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि डिजाइन एचसीपी डिजाइन, प्लानिंग एंड मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड ने तैयार किया है. नए भवन में संसद सदस्यों के लिए अलग-अलग कार्यालय होंगे. इसके साथ सांसदों के लिए लाउंज, लाइब्रेरी, समिति कक्ष और भोजन कक्ष भी होंगे. सांसदों के लिए डिजिटल सुविधाएं उपलब्ध होंगी, जो संसद को पेपरलेस बनाने की दिशा में अग्रणी कदम साबित होंगी. 

ये भी पढ़ें-TMC नेता ने दिखाए बागी तेवर, बोले- AC में बैठने वाले भ्रष्टाचारी कर रहे पार्टी का नेतृत्व

971 करोड़ रुपए है नए संसद की लागत
नया संसद भवन ब्रिटिश काल के संसद से बिल्कुल अलग होगा और इसे नई तकनीक को ध्यान में रखकर बनाया जाएगा. यह बिल्डिंग पूरी तरह से भूकंपरोधी होगी जिसमें लेटेस्ट डिजिटल टेक्नोलॉजी पर काम होगा. नए संसद भवन पर आने वाला कुल खर्च 971 करोड़ रुपए होगा. नए संसद भवन के लिए यह प्रोजेक्ट टाटा प्रोजेक्ट लिमिटेड ने तैयार किया है जबकि प्लानिंग एंड मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड ने इस नए भवन का डिजाइन तैयार किया है. 2022 में अगस्त के पहले यह प्रोजेक्ट पूरा करने का लक्ष्य है.

नए संसद में दिखाई देगी लोकतांत्रिक विरासत की झलक
नई बिल्डिंग में एक बड़ा कॉस्टीट्यूशन हॉल होगा, जिसमें भारत की लोकतांत्रिक विरासत की झलक दिखाई देगी. यह नया भवन सेंट्रल विस्टा परियोजना के तहत है और इसे वर्तमान संसद भवन के नजदीक बनाया जाएगा.  भवन में फर्नीचर्स पर स्मार्ट डिस्प्ले होगा. वोटिंग में आसानी के लिए बायोमीट्रिक सिस्टम होगा. नए संसद भवन में ट्रांसलेशन सिस्टम खास आकर्षण होगा, जिससे हर भाषा की स्पीच को हर सांसद समझ सके.

ये भी पढ़ें-BJP महासचिव Kailash Vijayvargiya का दावा- January से लागू होगा Citizenship Amendment Act

6 गेट वाले नए संसद भवन में होंगे 120 ऑफिस 
नए संसद भवन में जाने के 6 रास्ते होंगे. एक एंट्रेंस पीएम और प्रेसिडेंट के लिए होगा. एक लोकसभा के स्पीकर, एक राज्य सभा के चेयरपरसन, सांसदों के प्रवेश के निलए 1 एंट्रेंस और 2 पब्लिक एंट्रेंस होगा. इसमें कुल 120 ऑफिस होंगे जिनमें कमिटी रूम, मिनिस्ट्री आफ पार्लियामेंट्री अफेयर्स के आफिस, लोक सभा सेक्रेट्रिएट, राज्य सभा सेक्रेट्रिएट, पीएम आफिस आदि होंगे. 

सारे कार्य होंगे पेपरलेस
नए संसद भवन में लोकसभा चैंबर एरिया 3015 वर्ग मीटर में बना होगा. इसमें 543 सीट की जगह 888 सीट होगी. ज्वॉइंट सेयान के दौरान लोक सभा चैंबर में 1224 सांसद एकसाथ बैठ सकेंगे.

वहीं राज्य सभा का चैंबर एरिया 3,220 वर्ग मीटर एरिया में बनेगा. इसमें 245 की जगह 384 सीट होगी. नए संसद भवन का पार्किंग एरिया भी आधुनिक तकनीक वाला होगा. नए भवन के आफिसों में पेपरलेस काम किया जाएगा. इसमें सांसदों के लिए लाइब्रेरी, लॉन्ज, डाइनिंग एरिया भी होगा. दिलचस्प ये है कि नए संसद में सारा काम पेपरलेस होगा.

ये भी पढ़ें-देश में 138 दिन बाद घटे Coronavirus के एक्टिव मामले, मौतों में भी आई कमी



[ad_2]

Source link

Related posts

किसानों के लिए इतना काम करने वाले मोदी ‘किसान विरोधी’ नहीं हो सकते: हेमा मालिनी

News Malwa

Myanmar डिपोर्ट किए जा सकेंगे रोहिंग्या, Supreme Court ने साफ किया रास्ता

News Malwa

DNA ANALYSIS: Cyclone Tauktae ने मचाई तबाही, इंडियन कोस्ट गार्ड का ऑपरेशन जारी

News Malwa