मध्य प्रदेश

बोकारो: बंद समर्थकों ने घंटों ब्लॉक किया रेलवे परिचालन, हटाने आए RPF जवानों से हुई धक्कामुक्की

[ad_1]

मृत्युंजय मिश्रा/बोकारो: रेलवे स्टेशन पहुंचकर बंद समर्थकों ने रेल को रोक कर प्रदर्शन किया. बंदी कराने में कांग्रेस तथा जेएमएम और आरजेडी भी शामिल हुए. वही, बोकारो रामगढ़ नेशनल हाईवे में बंदी के दौरान हंगामा देखने को मिला जहां एक एंबुलेंस फंस गया था. जब बंद समर्थकों की नजर पड़ी तो आगे खड़े गाड़ियों को पास कराते हुए एंबुलेंस को भी पास कराया गया.

बताते चलें कि किसान विरोधी बिल के खिलाफ व किसान आंदोलन के समर्थन में सभी विपक्षी पार्टियों के आह्वान पर भारत बंद का ऐलान किया गया है, जिसको लेकर तमाम जगहों पर प्रदर्शन होने की सूचना मिल रही है. वही बंद समर्थकों में कांग्रेस झारखंड मुक्ति मोर्चा और आरजेडी के लोग ट्रेन को रोका.

पटना से रांची जाने वाली जनशताब्दी एक्सप्रेस को स्टेशन पर ही रोक दिया गया और पटरी पर बैठ गए. इसके कुछ देर बाद आरपीएफ ने बंद समर्थकों को वहां से हटाया. जैसे ही बोकारो रेलवे स्टेशन पर पटना से रांची जाने वाली जनशताब्दी एक्सप्रेस पहुंची, बंद समर्थक दौड़कर इंजन के आगे चले गए. इस दौरान आरपीएफ से भी धक्का-मुक्की देखने को मिली. 

आरपीएफ ने रोकने का प्रयास किया, लेकिन बंद समर्थक रेलवे पटरी पर बैठ गए. इसके बाद आरपीएफ के जवान जो पहले से ही मौजूद थे उन्होंने एक एक नेताओं को पकड़-पकड़ कर रेलवे ट्रैक से हटाया, जिसके बाद रेलवे ट्रैक खाली हुआ.

बंद समर्थकों ने कहा कि किसान विरोधी बिल के खिलाफ विपक्ष तब तक आंदोलन करते रहेगा, जब तक यह बिल वापस ना हो और किसान के समर्थन में केंद्र की मोदी सरकार कोई सार्थक पहल नहीं करती है.

इस दौरान बोकारो रेलवे स्टेशन पर ट्रेन से उतरने के बाद यात्री टेंपो और ट्रैक्टर की तलाश करते हुए देखे गए. यात्रियों का कहना था कि कोई टेंपो टेकर नहीं मिल रहा है इसलिए घर जाने में दिक्कत हो रही है. हालांकि बाद में गाड़ी की व्यवस्था की गई.
 
वही, बोकारो में बंदी के दौरान हंगामा भी खूब देखने को मिला, जहां बोकारो रामगढ़ नेशनल हाईवे के सीमंडी के पास हंगामे और बंदी के कारण झारखंड सरकार के एक 108 एंबुलेंस फंस गया था. जिसे बंद समर्थकों ने खाली करवाते हुए एंबुलेंस को पास करवाया. हंगामे के कारण और बंदी के कारण कुछ देर एंबुलेंस फसा रहा. 

इसके बाद जैसे ही लोगों की नजर एंबुलेंस पर पड़ी सभी ने एंबुलेंस को पास कराने के लिए एक-एक करके आगे रोककर रखे गए, सभी गाड़ियों को जाने दिया और फंसे हुए एंबुलेंस को पास कराया.



[ad_2]

Source link

Related posts

MP: वफा भूल कांग्रेस ने तोड़ी सारी हदें, सिंधिया के खिलाफ यूं उगला जहर- पढ़ें 10 Tweets

News Malwa

ऐसे लोगों से कोरोना फैलने का ज्यादा खतरा, बचाव के लिए इन चीजों का रखें ध्यान

News Malwa

Harda : किसानों के साथ धोख़ाधड़ी करने वाले व्यापारी को 5 साल की सज़ा, 2 लाख जुर्माना

News Malwa