मध्य प्रदेश

कौन बनेगा MP के सबसे बड़े नगर-निगम का महापौर, बीजेपी-कांग्रेस के ये नेता हैं दावेदार

[ad_1]

इंदौरः नगरीय निकायों के लिए आरक्षण की प्रक्रिया पूरी होते ही अब कहां से कौन चुनाव लड़ेगा इसके कयास भी लगने शुरू हो गए हैं. इंदौर नगर निगम में इस बार मेयर पद अनारक्षित  घोषित किया गया है, यानि इंदौर में मेयर पद सामान्य हो गया. मतलब अब इंदौर में कोई भी व्यक्ति मेयर पद के लिए अपनी दावेदारी पेशकर चुनाव लड़ सकता है. लिहाजा यहां अभी से मेयर पद के लिए बीजेपी और कांग्रेस की तरफ से दावेदारों के नाम सामने आने लगे हैं.

MP का सबसे बड़ा नगर-निगम 

इंदौर नगर निगम की गिनती प्रदेश के सबसे बड़े नगर निगम में होती है. जिसमें 85 वार्ड शामिल है. इंदौर की मेयर मालिनी गौड़ ने आखिरी बार इंदौर नगर निगम का 4824 करोड़ 73 लाख 67 हजार रुपए का बजट पेश किया था. जिसमें अकेले साफ-सफाई के लिए 100 करोड़ रुपए का बजट रखा गया था. जो अब तक का इंदौर नगर निगम का सबसे बड़ा बजट था. 

बीजेपी का गढ़ रहा है इंदौर नगर निगम
इंदौर नगर निगम बीजेपी का गढ़ माना जाता है. 1995 में इंदौर नगर-निगम बना था तब यहां कांग्रेस के मधुकर वर्मा ने जीत दर्ज की थी. लेकिन पिछले 20 सालों से इंदौर नगर निगम में बीजेपी का कब्जा है. साल 2000 में बीजेपी से कैलाश विजयवर्गीय मेयर बने थे, जबकि फिलहाल मालिनी गौड़ यहां से बीजेपी की मेयर हैं. 

बीजेपी से विधायक रमेश मेंदोला का नाम सबसे ऊपर 
इंदौर नगर निगम सीट सामान्य होने के बाद बीजेपी की तरफ से सबसे ज्यादा रिकॉर्ड वोटों से चुनाव जीतने का रिकॉर्ड बना चुके तीन बार के विधायक रमेश मेंदोला का नाम इस बार मेयर पद की रेस में सबसे आगे नजर आ रहा है. कैलाश विजयवर्गीय के करीबी मेंदोला इंदौर में बीजेपी का बड़ा चेहरा माने जाते हैं. हालांकि राजनीतिक हलकों में चर्चा चल रही है कि रमेश मेंदोला के सामने पार्टी ‘मंत्री या मेयर”का ऑप्शन रख सकती है. राजनीति जानकारों की मानें तो इंदौर से हमेशा ही 1 से ज्यादा मंत्री मिले हैं, ऐसे में अभी तक रमेश मेंदोला का नाम मंत्री पद के लिए तय माना जा रहा था, लेकिन मेयर के लिए सामान्य सीट होने के बाद ये कहा जा रहा है कि मेंदोला मेयर पद को ही प्राथमिकता दे सकते हैं. 

ये भी पढ़ेंः भोपाल में इस बार OBC महिला होगी मेयर, इंदौर फ्री फॉर ऑल, जानें अन्य 14 नगर निगमों का हाल

कांग्रेस से विधायक संजय शुक्ला दावेदार   
वही कांग्रेस से विधायक संजय शुक्ला मेयर पद के दावेदार माने जा रहे हैं. उनका नाम कांग्रेस की तरफ से सबसे आगे चल रहा है, खुद संजय शुक्ला ने भी मेयर पद पर चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर कर दी है. उनका कहना है कि अगर पार्टी और प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ उन्हें मेयर का चुनाव लड़ने के लिए हरी झंडी देते है तो वह चुनाव लड़ने के लिए तैयार है. 

इस बार भी कोई विधायक ही बनेगा इंदौर का मेयर
कैलाश विजयवर्गीय हों या मालिनी गौड़ दोनों ही विधायक रहते हुए इंदौर के मेयर बने थे, फिलहाल वर्तमान मेयर मालिनी गौड़ इंदौर-4 विधानसभा सीट से विधायक हैं, इस बार भी बीजेपी और कांग्रेस की तरफ से दो विधायकों के नाम सामने आ रहे हैं. ऐसे में इस बार भी पूरी संभावना बन रही है कि अगर रमेश मेंदोला और संजय शुक्ला मेयर का चुनाव लड़ते है तो फिर से इंदौर का मेयर कोई विधायक ही बनेगा. 

ये भी पढ़ेंः BJP नेता हितेश वाजपेयी ने कहा- इंदौर कलेक्टर CMHO पर निकाल रहे हैं अपनी व्यक्तिगत कुंठा

महापौर पद के लिए बीजेपी-कांग्रेस के दावेदार 

भाजपा
रमेश मेंदोला (विधायक विस क्र 2)
मधु वर्मा (पूर्व IDA अध्यक्ष)
सुदर्शन गुप्ता ( पूर्व विधायक)
गोपीकृष्ण नेमा (पूर्व विधायक)

कांग्रेस
संजय शुक्ला ( विधायक विस क्र 1)
जीतू पटवारी ( विधायक राऊ, पूर्व मंत्री)
विशाल पटेल( विधायक देपालपुर)
सत्यनारायण पटेल( पूर्व विधायक)
अश्विन जोशी ( पूर्व विधायक) 

ये भी पढ़ेंः शिवराज बोले- किसान हमारे भगवान, कृषि कानून लाएंगे क्रांतिकारी बदलाव, विपक्ष के नेता कर रहे ढोंग

ये भी देखेंः VIDEO: इस वजह से बीजेपी कार्यकर्ताओं ने की गाय की पूजा

VIDEO: भ्रष्टाचार की जांच करने पहुंची टीम से ग्रामीणों ने की मारपीट, बिना जांच किये भागे अधिकारी

WATCH LIVE TV



[ad_2]

Source link

Related posts

Sawan 2021 Special Mehandi: मेहंदी बिना है सावन फीका, ट्राई करें ये लेटेस्ट डिजाइन्स

News Malwa

सिंधिया के काफिले में गाड़ी में चढ़ते समय सब इंस्पेक्टर नीचे गिरा, सिंधिया ने रुमाल से बांधी पट्टी

News Malwa

इंदौर: 25 फीट गहरी खाई में गिरी कांग्रेस नेता की कार, जानें- किस्मत और तकनीक ने कैसे बचाई जान?

News Malwa