मध्य प्रदेश

कानपुर हत्याकांड: मध्य प्रदेश के 3 सिपाहियों सहित 6 लोगों को इनाम देगी UP पुलिस

[ad_1]

लखनऊ: ‘मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला’ कहकर उज्जैन के महाकाल मंदिर में अपनी पहचान बताने वाले यूपी के दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़वाने के मामले में 5 लाख के इनाम के हकदार लोगों के नाम सामने आ गए हैं. मध्य प्रदेश पुलिस ने इनाम पाने वालों की सूची यूपी डीजीपी मुख्यालय को भेज दी है. इनमें 6 नाम मध्य प्रदेश सरकार ने भेजे हैं.

मुस्लिम शासक तैमूर लंग ने की थी तोड़ने की कोशिश, अब 270 मीटर ऊंचा बनेगा यह मंदिर

9 दिसंबर को पकड़ा गया था विकास दुबे
9 जुलाई 2020 को गैंगस्टर विकास दुबे महाकाल मंदिर परिसर में पकड़ा गया था. इसके बाद से ही यह सवाल उठ रहा था कि आखिर उस पर घोषित 5 लाख रुपये का इनाम किसे दिया जाएगा. इसका पता लगाने के लिए उज्जैन के एसपी ने एक कमेटी का गठन किया था. कमेटी ने अपनी रिपोर्ट तैयार कर ली है. इसमें इनाम के हकदार छह लोगों के नाम हैं, विकास को पकड़वाने में इन सभी की भूमिका रही.

जब मगरमच्छ ने किया बाघ का शिकार, देखें Viral Video

फूल विक्रेता सहित इन लोगों को मिलेगा 5 लाख का इनाम 
मध्य प्रदेश पुलिस द्वारा उत्तर प्रदेश डीजीपी मुख्यालय को भेजी गई सूची के अनुसार मध्य प्रदेश पुलिस के तीन सिपाही समेत छह लोगों को इनाम की राशि मिलेगी. इस सूची में महाकाल मंदिर परिसर के फूल विक्रेता सुरेश कहार का नाम भी शामिल है, जिसने सबसे पहले विकास दुबे को पहचाना था.

शक होने पर उसने विकास दुबे के मंदिर में होने की बात महाकाल मंदिर के निजी सिक्योरिटी गार्ड राहुल शर्मा और धर्मेंद्र परमार को बताई, जिसके बाद इन दोनों ने विकास दुबे को रोका था और पुलिस को मामले की जानकारी दी थी. इसलिए इन तीनों को इनाम की राशि दी जाएगी. इसके साथ ही एमपी पुलिस ने महाकाल थाने के 3 कॉन्स्टेबल, विजय राठौर, जितेंद्र कुमार और परशुराम का नाम भी इनाम पाने वालों में की सूची में शामिल किया है.

BHU में पढ़ाई जाएगी ‘काशी स्टडी’, 2 साल के PG कोर्स के लिए नए सत्र से मिलेगा एडमिशन

गौरतलब है कि उज्जैन पुलिस ने तीन एडिशनल एसपी के अगुवाई में एक कमेटी गठित की थी जिसने इनाम पाने के हकदार लोगों के बारे में पता किया और फाइनल लिस्ट तैयार की. विकास दुबे के पकड़े जाने के साढ़े चार महीने बाद यह तय हो पाया है कि इनाम पाने के असल हकदार कौन हैं.

एनकाउंटर के पहले कई बार बदली गई इनाम राशि
पहले विकास दुबे पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित था. फिर विकास दुबे को जिंदा या मुर्दा पकड़ने के लिए 50 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया. इसके बाद कानपुर जोन के एडीजी जय नारायण सिंह ने उसकी गिरफ्तारी पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया. इसके बाद इनाम की राशि ढाई लाख की गई और फिर पांच लाख कर दी गई.

औषधीय गुणों से भरपूर है अमरूद, जानिए इसे खाने के 10 फायदे

आपको बता दें कि 2 जुलाई की रात चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस टीम पर उसने गुर्गों के साथ हमला किया था. फायरिंग कर सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतार दिया था. इस घटना में आधा दर्जन पुलिसकर्मी गोली लगने से घायल हुए थे. मौके से विकास दुबे फरार हो गया था.

घटना के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उससे कई गुर्गों को एनकाउंटर में मार गिराया था. 8 जुलाई को विकास दुबे सहित उज्जैन से पकड़ा गया. कानपुर लाते वक्त झांसी के पास पुलिस की गाड़ी पलट गई थी. विकास दुबे भागने लगा तो पुलिस ने वहीं उसे ढेर कर दिया.

स्वाद ही नहीं सेहत भी बनाता है लहसुन, जानिए खाने का सही समय और होने वाले चमत्कारिक फायदे

WATCH LIVE TV

 



[ad_2]

Source link

Related posts

नये-नवेले PCS अधिकारी पर लगा ‘प्रेमिका’ से रेप का आरोप, हक्की-बक्की रह गई बीवी

News Malwa

झारखंड: बिजली के तार की चपेट में आने से हाथी की मौत, जांच शुरू

News Malwa

Bhopal: पूर्व मंत्री उमंग सिंघार के बंगले में महिला ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में लिखा- मैं तुम्हारी जिंदगी में जगह चाह रही थी…

News Malwa