व्यापार-कारोबार

इनके एक आइडिया ने बदली पूरी सप्लाई चेन, गली की दुकान तक पहुंचा दिए Branded Products

[ad_1]

जयपुर: आज नया भारत हमारे सामने है. नवाचार, डिजिटल क्रांति (Digital Revolution), तकनीक के साथ क्षमताओं का समावेश पेशेवर भारत की तस्वीर को चमकदार बना रहा है. कोरोना संक्रमण की छाया में भी कई बिजनेस आइडिया मजबूती से केवल इसलिए टिके है कि उनकी नींव भविष्य की संभावनाओं और समस्याओं का अंदाजा लगाकर रखी गई है. इसी तरह आईआईटी रूडकी (IIT Roorkee) और आईआईएम बैंगलुरू (IIM Bangalore) के पास आउट रोहित डंगायच (Rohit Dangayach) के एक आईडिया ने ट्रेड के रूख को अपनी उंगलियों में समेट दिया. 

आज से 6 साल पहले अपनी बेहतर पैकेज की नौकरी छोड़कर उद्यमी बनने के सपने के साथ उद्यमी रोहित डंगायच ने जयपुर से होलसेल बॉक्स (Wholesale Box) की शुरूआत की. यह वक्त वह था जब डिजिटल भारत का सपना हकीकत में ढ़लने जा रहा था. टैलीकॉम कंपनियां फॉर जी के जमाने में आने को आतुर थी. स्मार्टफोन गांव, गली और हर वर्ग की पहुंच में आ रहे थे. इस वक्त ऑनलाइन खरीददारी भी ऑफर्स के जरिए सीधे उपभोक्ताओं को आकर्षण में बांध रही थी. ऑनलाइन खरीद में मिलने वाले ऑफर्स खुदरा विक्रेताओं की नींद उड़ा रहे थे. इस बीच उद्यमी रोहित डंगायच ने होलसेल बॉक्स डॉट इन की शुरूआत केवल उन कारोबारियों के लिए की, जो गली, मौहल्ले या बाजारों में अपनी दूकान पर ब्रांडेंड उत्पादों (Branded Products ) की बिक्री तलाश रहे थे.

इस दौर में दूकानदार थोक बाजार में जाकर अपने लिए उत्पाद खरीद करते थे, जिसे उनकी दूकान तक लाने के लिए परिवहन खर्च भी उन्हें ही करना पड़ता था. थोक विक्रेता बड़ी मंडी से और बड़ी मंडी में स्टेट डीलस से और स्टेट डीलर निर्माता से उत्पाद खरीद करता था, ऐसे में उत्पाद की कीमत में मार्जिन लेने वाली की संख्या बढ़ती रहती थी. उपभोक्ताओं को वहीं ब्रांडेंड उत्पाद रिटेल खरीद में महंगे पड़ते थे. रोहित डंगायच ने होलसेल बॉक्स डॉट इन के जरिए निर्माता और खुदरा कारोबारियों को सीधा जोड़ा, जिससे बीच का मार्जिन खत्म हुआ और 25 से 30 प्रतिशत सस्ते उत्पाद सीधे खुदरा विक्रेता की दूकान पर पहुंचने लगे. उत्पाद सीधे दूकाने तक सुरक्षित और समय पर पहुंचे इसके लिए नामी कोरियर कंपनियों से करार किया गया.

सौ खुदरा कारोबारियों से शुरू हुए इस कांसेप्ट से अब देशभर के 20 हजार से अधिक रिटेल कारोबारी सीधे जुड़ चुके हैं. रोहित डंगायच का कहना है कि इसका मुख्य मकसद उपभोक्ता को फील एंड टच के साथ खुदरा कारोबारी की दूकानों पर उत्पाद उपलब्ध करवाना है. इसमें रिटेल कारोबारियों के पास भी ब्रांडैंड उत्पाद सस्ते में पहुंच रहे है. इसका बड़ा फायदा यह है दूकान खोलकर बैठे कारोबारी भी भारी छूट के ऑनलाइन बाजार का मुकाबला कर सकते है. ऑनलाइन में ग्राहक उत्पाद को पहनकर, महसूस कर और चैक करके नहीं ले सकता, रिटेल शॉपिंग में वह सभी उसे मिलता है.

क्या है खूबियां
2 लाख से अधिक ब्रांड उत्पाद
देश के अधिकतर नामी ब्रांड उत्पादों की सप्लाई
25 से 30 प्रतिशत सस्ते उत्पाद सीधे खुदरा विक्रेता की दूकान पर
उत्पाद सीधे दूकाने तक डिलीवर
सुरक्षित और समय पर पहुंचे इसके लिए नामी कोरियर कंपनियों से करार
रिटर्न, रिप्लेसमेंट और कंसीलेंशन का सुविधा
पूरे भारत में कही भी डिलीवरी
गांवो, कस्बो और टियर 2,3,4 शहरों तक पहुंच
इंटरेस्ट फ्री क्रेडिट फैसेलिटी

होलसेल बॉक्स डॉट इन के प्रबंधन का मानना है कि इस कांसेप्ट ने ना केवल खुदरा कारोबारियों के मुनाफे को बढ़ाकर ऑनलाइन मॉर्केंट का मुकाबला करने के लिए तैरूार किया है साथ ही थोक बाजार तक जाकर आने और खरीददारी में लगने वाले समय को भी कम किया है. साथ ही सभी बड़े निर्माताओं के हजारों उत्पाद उनकी दूकान के लिए एक ही प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है. बीच की कड़ियों के खत्म होने से सस्ते में मिल रहे ब्राडैंड उत्पाद छूट और गांरटी के साथ उपलब्ध है ऐसे में रिटेल की रौनक लॉटनी तय है.

 

ये भी पढ़ें: कृषि कानून पर CM गहलोत का केंद्र पर हमला, बताई Farmer Protest की वजह



[ad_2]

Source link

Related posts

PMAY से जुड़े घोटाले में CBI की कार्रवाई, DHFL प्रमोटर्स के खिलाफ दर्ज हुआ केस

News Malwa

Petrol Price Today 10 May 2021: पेट्रोल-डीजल आज फिर हुआ महंगा, मई में अबतक 5 बार बढ़े दाम

News Malwa

Petrol Price Today 10 February 2021 Updates: बेकाबू हुए पेट्रोल-डीजल के रेट, मुंबई में पेट्रोल 94 रुपये के पार

News Malwa