दुनिया

आतंकवादियों को ‘सैन्य सम्मान’ देता है पाकिस्तान? 26/11 के भगोड़े राणा ने की थी मांग

[ad_1]

वॉशिंगटन: अमेरिकी सरकार ने एक संघीय अदालत से कहा है कि भारत द्वारा घोषित भगोड़ा तहव्वुर राणा (Tahawwur Rana) मुंबई आतंकवादी हमलों (Mumbai terror attacks) में भूमिका के लिए ‘पदक’ चाहता था. इतना ही नहीं तहव्वुर राणा मारे गए 9 मुंबई आतंकी हमलावरों की सैन्य सम्मान के साथ शव यात्रा भी निकलवाना चाहता था.

2010 में किया था गिरफ्तार
डेविड कोलमैन हेडली (David Coleman Headley) के बचपन के दोस्त 59 वर्षीय पाकिस्तानी मूल के कनाडाई व्यवसायी राणा को लॉस एंजिल्स में जून 2010 में गिरफ्तार किया गया था. भारत ने 2008 के मुंबई आतंकवादी हमलों (Mumbai terror attacks) में राणा की संलिप्तता के लिए प्रत्यर्पण की मांग की थी. इस हमले में 166 लोग मारे गए थे जिनमें छह अमेरिकी भी शामिल थे. लॉस एंजेलिस में अमेरिकी डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के जस्टिस जैकलीन चेलोनियन ने 13 नवंबर को अपने आदेश में कहा कि इस मामले में प्रत्यर्पण सुनवाई, 12 फरवरी 2021 को सुबह 10:00 बजे निर्धारित है.

भारत की मांग पर अमेरिका सहमत
भारत द्वारा की गई राणा के प्रत्यर्पण की मांग के समर्थन में लॉस एंजिल्स अदालत में अमेरिकी अटॉर्नी निकोला टी हन्ना (US attorney Nicola T Hanna) ने कहा है कि राणा, हेडली, लश्कर ने 26/11 को अंजाम दिया.

पाकिस्तान में ली थी ट्रेनिंग
भारत ने जिस एक आतंकवादी *Terrorist) को पकड़ा था उससे पूछताछ में कई अहम सुराग हाथ लगे थे. हन्ना ने कहा, हेडली ने राणा के साथ मुंबई हमलों को लेकर चर्चा की थी इसके सबूत हैं. दिसंबर 2008 में, हेडली ने पाकिस्तान में ट्रेनिंग ली थी. इसके बाद राणा को उन विभिन्न स्थानों के बारे में बताया जहां हमला किया जाना था. हेडली ने उन स्थानों के वीडियो भी बनाए थे.

आतंकियों को सम्मान?
पाकिस्तान में अपने स्कूल पर 1971 के हमले का जिक्र करते हुए हेडली ने राणा से कहा था कि उसका मानना है कि वह ‘अब भी भारतीयों के साथ हैं’. जवाब में, राणा ने कहा कि वे (भारतीय लोग) इसके हकदार हैं. इसके अलावा, सितंबर 2009 में एफबीआई ने राणा और हेडली के बीच बातचीत में राणा को यह कहते सुना ‘हमलों के दौरान मारे गए 9 लश्कर हमलावरों को पाकिस्तान का सर्वोच्च सैन्य सम्मान दिया जाना चाहिए.’

यह भी पढ़ें: Kim Jong Un ने ​परिवार के साथ चुपके से लगवा ली Corona Vaccine?
 
राणा चाहता था पदक
हन्ना ने अदालत में कहा, राणा ने हेडली से पाकिस्तान द्वारा ‘पदक’ दिलाए जाने के लिए भी कहा था. जब राणा को पता चला कि हेडली ने पहले ही पाकिस्तान के आतंकी समूह को इस बारे में बता दिया है, तो वह खुश हो गया. इसके बाद राणा और हेडली अन्य आतंकवादी हमलों की साजिश में शामिल हो गए.

यह भी पढ़ें: आखिर क्यों Japan की सड़कों पर लड़कियां खून से सने कपड़े पहनकर घूमती हैं? जानें असली वजह

हेडली शिकागो में हुआ था गिरफ्तार
हेडली को 3 अक्टूबर 2009 को शिकागो में गिरफ्तार किया गया था. छह महीने बाद हेडली को 12 आरोपों के लिए दोषी ठहराया गया. इलिनोइस कोर्ट ने हेडली को 35 साल के कारावास की सजा सुनाई गई.

LIVE TV



[ad_2]

Source link

Related posts

DNA ANALYSIS: US में जमीन से आसमान तक आग, समझिए क्या है Heat Dome जिससे बढ़ी परेशानी?

News Malwa

UAE: विशाल मंदिर में लगेंगे भारत से गए विशेष पत्थर, दिखेगा कलाकारी का अनूठा संगम

News Malwa

एयलाइंस स्टाफ की बदतमीजी, जानिए कहां का है मामला

News Malwa