धर्म-कर्म

आज सावन का पहला सोमवार, इस मुहूर्त में न करें महादेव की उपासना, हो सकता है अशुभ

[ad_1]

<p><strong>Sawan Somwar Vrat 2021 Muhurt: &nbsp;</strong>आज 26 जुलाई 2021 को सावन मास का पहला सोमवार है. सावन मास भगवान शिव को बहुत प्रिय है. इसलिए शिव भक्त सावन मास में भगवान शिव और माता पार्वती की विधि पूर्वक पूजा अर्चना करते हैं. सोमवार का दिन भी भगवान शिव को समर्पित होता है. जब सावन का महीना हो और उसमें भी सोमवार का दिन हो तो शिव और माता पार्वती की पूजा का महत्व और बढ़ जाता है. हिंदी पंचांग के अनुसार, आज सावन के पहले सोमवार के दिन दो शुभ योग गजकेसरी योग (Gajakesari Yoga) और बुधादित्य योग (Budhaditya Yoga) का निर्माण हो रहा है. ज्योतिष गणना के अनुसार सावन के पहले सोमवार पर चंद्रमा और गुरू की युति से गजकेसरी योग और कर्क राशि में सूर्य और बुध ग्रह की युति से बुधादित्य योग बन रहा है. गजकेसरी योग ज्योतिष में बहुत शुभ और मंगलकारी माना जाता है.</p>
<p>वहीं सावन के पहले सोमवार यानी 26 जुलाई के दिन कुछ अशुभ मुहूर्त भी बन रहें हैं. ऐसे में शिव भक्तों को भगवान भोलेनाथ और माता पार्वती की पूजा करते समय इस अशुभ मुहूर्त का जरूर ध्यान रखें नहीं तो सावन सोमवार व्रत और भगवान शिव एवं माता पार्वती की पूजा का कोई पुण्य लाभ नहीं मिलेगा. इस लिए आइये जानें इस अशुभ मुहूर्त को जिसमें भगवान शिव की पूजा वर्जित है. &nbsp;</p>
<div class="uk-grid-collapse uk-grid">
<div class="uk-width-3-5 fz20 p-10 newsList_ht uk-first-column"><a href="https://www.abplive.com/lifestyle/religion/26-july-horoscope-two-special-rajayog-in-aquarius-and-cancer-luck-of-both-these-zodiac-signs-today-sawan-first-somwar-1945120"><strong>कुंभ और कर्क राशि में 26 जुलाई को बन रहे हैं दो विशेष ‘राजयोग’, इन दोनों राशियों की आज खुल सकती है किस्मत</strong></a></div>
</div>
<p><strong>आज</strong> <strong>के</strong> <strong>अशुभ</strong> <strong>मुहूर्त</strong></p>
<ol>
<li><strong>आज</strong> <strong>राहुकाल</strong> <strong>का</strong> <strong>समय</strong><strong> – </strong>सुबह 07 बजकर 30 मिनट से 9 बजे तक.</li>
<li><strong>यमगंड</strong><strong>- </strong>सुबह 10 बजकर 30 मिनट से 12 बजे तक.</li>
<li><strong>गुलिक</strong> <strong>काल</strong><strong>: </strong>आज 26 जुलाई को दोपहर 01 बजकर 30 मिनट से 03 बजे तक</li>
<li><strong>दुर्मुहूर्त</strong> <strong>काल</strong><strong>- </strong>दोपहर 12 बजकर 55 मिनट से 01 बजकर 49 मिनट तक. इसके बाद 03 बजकर 38 मिनट से 04 बजकर 32 मिनट तक.</li>
<li><strong>पंचक</strong><strong>- </strong>आज पूरा दिन पंचक रहेगा.</li>
<li><strong>भद्रा- </strong>दोपहर 03 बजकर 24 मिनट से 27 जुलाई सुबह 02 बजकर 54 मिनट तक.</li>
</ol>
<div class="uk-grid-collapse uk-grid">
<div class="uk-width-3-5 fz20 p-10 newsList_ht uk-first-column"><strong><a href="https://www.abplive.com/lifestyle/religion/sawan-ka-pahla-somwar-2021-when-is-sawan-shivratri-know-date-tithi-and-auspicious-time-shubh-muhurat-1945080">Sawan Shivratri 2021: सावन शिवरात्रि कब है? जानें तिथि और शुभ मुहूर्त</a></strong></div>
</div>

[ad_2]

Source link

Related posts

एस्ट्रोवाणी । Music और Dance के मामले में बच्चे हम बड़ों से कैसे अलग होते हैं ?

News Malwa

Chanakya Niti: चाणक्य के अनुसार इन कामों को करने से मिलता है कठोर दंड, जानें चाणक्य नीति

News Malwa

भाग्य के देवता हैं शनिदेव, शनि पर्वत पर जाने वाली हर रेखा होती है भाग्य रेखा

News Malwa