मध्य प्रदेश

अस्पताल प्रबंधन ने छुपाया था बच्चों की मौत का आंकड़ा, स्वास्थ्य मंत्री के दौरे से खुली पोल

[ad_1]

शहडोल: मध्य प्रदेश के शहडोल जिले में बच्चों की मौत मामले में अस्पताल प्रबंधन द्वारा आंकडे छुपाए जाने का मामला सामने आया है. इस बात का खुलासा स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी के शहडोल दौरे पर हुआ है. जानकारी के मुताबिक पिछले 12 दिनों में जिला अस्पताल में 18 बच्चों की मौत हुई थी, जबकि अस्पताल प्रबंधन द्वारा सरकार को सिर्फ 13 बच्चों के मौतों की जानकारी दी गई थी. यानि कि प्रबंधन की तरफ से 5 बच्चों की मौतों का आंकड़ा छुपा लिया गया था.

‘भारत बंद’ के चलते कई ट्रेनें हुई कैंसिल, परीक्षाएं भी स्थगित, यहां देखें डिटेल्स 

8 महीने में 362 बच्चों की मौत
जानकारी के मुताबिक शहडोल के 15 अस्पतालों में पिछले 8 महीने के दौरान 362 बच्चों की मौत हो चुकी है. वहीं, 26 नवंबर से अब तक जिला अस्पताल में ही 26 मौतें हुई हैं.

डॉक्टरों की कमी की वजह से हो रहीं मौतें
स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी के शहडोल दौरे पर खुलासा हुआ है कि अधिकतर बच्चों की मौत विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमी की वजह से हुई है. जिले के 15 अस्पताल सिर्फ नर्सों के भरोसे चल रहे हैं. आलम यह है कि सीएचसी में एक भी विशेषज्ञ डॉक्टर नहीं हैं.

VIDEO: जब शिकारी खुद बना शिकार, चंद सेकंड में मगरमच्छ ने किया चीते का काम तमाम

ये है जिले में अस्पतालों का ब्यौरा
जानकारी के मुताबिक शहडोल जिले में 100 बेडों वाला एक सिविल अस्पताल है. इसके अलावा जिले में  7 सीएचसी, 29 पीएचसी और 226 उप स्वास्थ्य केंद्र हैं.

ये भी पढ़ें- 

लगातार बढ़ रहे वजन को कम करने के लिए रामबाण है करी पत्ता, पिएं इसका जूस

पनीर खाने से रह सकते हैं इन रोगों से दूर, डॉक्टर भी देते हैं सलाह ​

गांव के पास अठखेलियां करते दिखे ‘वनराज’, आप भी देखिए टाइगर का ये मजेदार VIDEO ​

Watch Live TV-



[ad_2]

Source link

Related posts

पटना में 70 लाख से अधिक के गोल्ड के बिस्किट बरामद, 2 तस्कर गिरफ्तार

News Malwa

MPPSC Exam 2020 Postponed: एमपीपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2020 स्थगित, जानें कब होगी परीक्षा

News Malwa

बीकानेर: केंद्र-राज्य पर बेनीवाल का निशाना, दोनों सरकार को बताया किसान विरोधी

News Malwa